How To Do Halasana In Hindi | हलासन योग और उसके फायदे

How To Do Halasana Yoga Step By Step Guide In Hindi Language योग में आसनों का बड़ा महत्व बताया गया है। इन्हे  करने से हमारे शरीर को कई बीमारियों से अनायास ही मुक्ति मिल जाती है। और हमारा शरीर और दिमाग स्वस्थ रूप से कार्य करने में सक्षम हो पाता है। इसके साथ ही नियमित योगाभ्यास हमारे शरीर को सकारात्मक ऊर्जा से भर देता है। हठयोग प्रदीपिका में कुल ८४ आसनो का उल्लेख मिलता है। जिसमे से हर एक आसन परम लाभकारी और रोगो से मुक्ति दिलाने वाला है। आज मै जो आसन बताने जा रहा हूँ ,उसे योग में रोगों का काल माना गया है। उस आसन का नाम हलासन है।  इसे करते समय हमारे शरीर का आकार  बिल्कुल हल की समान हो जाता है ,इसलिए इसे Halasana के नाम से जाना जाता है। 



How To Do Halasana Yoga Step By Step Guide In Hindi

How To Do Halasana Yoga Step By Step Guide In Hindi
Halasana Yoga



  1. हलासन करने के लिए किसी हवादार और स्वच्छ स्थान का चुनाव करे। 
  2. बंद कमरे में इसे ना करे ,और इसे करते समय ध्यान रखे की आपका पेट बिलकुल खाली हो। 
  3. सर्वप्रथम एक चटाई बिछाकर उसपर अपने पैरों को लम्बा करके बैठ जाए।   
  4. सीधे जमीन पर लेट जाए और शरीर को एकदम ढीला छोड़े।   
  5. ५ से ७ बार हल्की हल्की सांसे लेकर अपने शरीर को आराम देने की कोशिश करे। 
  6. उसके बाद धीरे से अपने पैरों को घुटने से मोड़कर ऊपर उठाने का प्रयास करे।  
  7. इसके लिए अपने दोनों हाथों से अपने कमर को सहारा दे सकते है।  
  8. अब बिना अपने घुटनो को मोडे  , अपने पैर के तलवों को धीरे धीरे अपने सर के ऊपरी भाग में जमीन पर लगा दे। 
  9. अपने हाथों को सीधा करके एक दूसरे के साथ मिलाकर जमीन पर  रखे।  
  10. जितनी ज्यादा देर आप इस अवस्था में रुक सकते है उतनी देर रुके।
  11. इस अवस्था में लगातार सांसे लेते रहे।  
  12. अब धीरे धीरे अपने हाथो का सहारा लेकर अपने पहले की अवस्था में आ जाए। Halasana को  रोजाना कम से कम 5 से १० बार करे। 
  13. हलासन के अभ्यास से पहले सर्वांगासन का अभ्यास करना अच्छा रहता है। 
  14. हलासन के बाद आप पश्चिमोत्तनासन या आगे झुकनेवाले आसनों का अभ्यास कर सकते है। 






Health Benefits Of Halasana Yoga In Hindi

  1.  नियमित रूप से Halasana करने से शरीर की समस्त मासपेशियां सुचारु रूप से कार्य करने लगती है।  
  2. जिससे पसीना आकर शरीर के अंदर रहनेवाली गंदगी बाहर निकल जाती है ,और शरीर लचीला एवं हल्का हो जाता है। 
  3. हलासन करने से मेरुदंड संबंधित सभी रोग दूर हो जाते है, और कमर पतली और मजबूत बनती है। 
  4. कब्ज ,एसिडिटी ,जैसी पेट समस्याओं को दूर कर पाचनशक्ति बढ़ाता है।  
  5. हलासन का नियमित अभ्यास जोड़ों के दर्द एवं वात, पित्त , और कफ जैसे समस्याओं से मुक्ति दिलाता है।
  6. इसके अलावा इसके अभ्यास से फेफड़ो के रोग ,छाती विकसित न होना , कफ , सर्दी ,जुकाम जैसी समस्याओं से राहत दिलाता है।  
  7. यह आसन थायरॉइड ग्रंथि को प्रभावित करता है ,नित्य इसका अभ्यास गले के रोगों को समाप्त कर देता है। 
  8. थायरॉइड जैसी समस्याओं के लिए ये आसन परम गुणकारी है। 
  9. यह आँखे चमकदार बनाकर आँखों की रौशनी बढ़ाता है।
  10.  असमय बालों का सफ़ेद होना एवं बालों का पतला होना जैसी समस्याएं दूर करता है।  
  11. ये त्वचा को चमकदार बनाकर झुरिया मिटाता है। 
  12. जो विद्यार्थी है उनके लिए ये आसन सर्वोत्तम है।  
  13. इसका अभ्यास एकाग्रता क्षमता को बढाकर ,मानसिक शांति प्रदान करता है। 
  14. शरीर को मजबूती दिलाकर रोगप्रतिकारक शक्ति को बढ़ाता है। 
  15. ये सभी Benefits Of Halasana है। 




Halasana Yoga करते समय ध्यान देने योग्य बाते 


  1. हलासन का अभ्यास आपकी कमर और पेट को एक जबरदस्त खिचाव देता है। 
  2. इसीलिए बाकी योगासनों की तरह इस आसन का अभ्यास करने से पहले आपका पेट खाली होना आवश्यक है।
  3. सुबह का समय हलासन के अभ्यास के लिए उपयुक्त समय है। 
  4. आप शाम के समय भी इस आसन का अभ्यास कर सकते है पर इसके लिए आपके भोजन और अभ्यास में ६ से ७ घंटे का अंतर होना आवश्यक है।   







Precautions Of Halasana Yoga In Hindi - Savadhani 

  1. हलासन करते समय ज्यादा ताकद का प्रयोग ना करे। 
  2. हलासन का अभ्यास उन्हें नहीं करना चाहिए जो अस्थमा या गर्दन के दर्द से पीड़ित है। 
  3. जिन्हे कमरदर्द रहता है ,उन्हें भी ये आसन नहीं करना चाहिए। 
  4. जो लोग उच्च रक्तचाप जैसी समस्या से पीड़ित है उन्हें किसी योगगुरु की विशेष देखरेख में ही इस आसन को करे। 
  5. जल्दबाजी में भी इस आसन को ना करे। 



अब आपको " How To Do Halasana In Hindi | हलासन योग और उसके फायदे" के बारे में उपयुक्त जानकारी मिल गई होगी ,अब आप आनंद के साथ हलासन को कर सकते है। 

Previous
Next Post »