Makarasana In Hindi Complete Guide

 Makarasana In Hindi Complete Guide मकरासन हठयोग में वर्णित एक आरमदायक आसन है। योग में इस आसन को मगरमच्छ से प्रेरणा लेकर समाविष्ट किया है। मगरमच्छ जब पानी के बाहर निकलकर आराम करता है ठीक वैसि ही स्थिति मकरासन के अभ्यास करते समय साधक के शरीर की बनती है ,इसलिए इसे मकरासन या मगरमच्छ आसन के नाम से जाना जाता है। अपने रोज के आसनों या व्यायामों के होने के बाद जब आपका शरीर थकावट महसूस करता है तो आप इस आसन का अभ्यास कर सकते है। या फिर जब आप आसनों का अभ्यास समाप्त करने वाले हो ,उस समय भी आखिर में आप इसका अभ्यास करके शांति का अनुभव कर सकते है। ये शरीर को तनावरहित कर मांसपेशियों को राहत देने के लिए सर्वोत्तम आसनों में से एक है। इस लेख में Makarasana In Hindi की विस्तारित जानकारी देने जा रहे है ,जो आपके लिए लाभकारी साबित होगी।



Makarasana In Hindi - मकरासन योग  

Makarasana In Hindi - मकरासन योग
Source-Shutterstock 


  • Makarasana Steps 

  1. Makarasana Pose किसी शांत और स्वच्छ जगह पर करना सर्वथा उचित रहता है। 
  2. सबसे पहले जमीन पर चटाई बिछाकर पेट के बल लेट जाए। 
  3.  अपने दोनों हाथों को सामने की और लाये। हाथों को कोहनियों से मोडे और कोहनियों को जमीन पर टिका दे। 
  4. ध्यान रखे की आपकी कोहनियां आपके कंधों से दुरी बनाती हो या अलग हो। जब आप हाथों को जमीन पर टिकाते है ,तो अपनी हथेलियों को अपने दोनों गालों पर रखे और गर्दन को हाथों से सहारा दे। अपने कंधे एवं गर्दन सीधी रखे तथा अपनी दृष्टी को आगे की और बनाये रखे। 
  5. इस स्थिति में आपका पूरा शरीर फर्श पर टिका होता है ,ध्यान रखे की पैरों की उँगलियों तक भाग जमीन से सटा हो। इसी अवस्था में बने रहे श्वासों को सामान्य गति से लेते रहे और अपनी मांसपेशियों एवं दिमाग को आरामदायक स्थिति का अनुभव होने दे। 
  6. जब तक आपका शरीर एवं दिमाग पूर्ण रूप से तनावरहित नहीं होता या आरामदायक मुद्रा की अनुभूति नहीं कराता ,तब तक इसी अवस्था में बने रहे।
  7.  एक मिनट तक रुकने के बाद अपनी गर्दन को निचे करे और सामान्य स्थिति में आ जाएँ। नियमित Makarasana Pose के अभ्यास से समय अवधि बढ़ाते जाए ,Makarasana Steps करते समय हमें अपने हाथ ,गर्दन ,पैरों में होनेवाले खिचाव को महसूस करना चाहिए। 
  8. जब आप Makarasana Yoga का अभ्यास करते है ,तो अपने शरीर को पूर्ण रूप से स्वतंत्र छोड़े ,उसे पूर्ण आराम की अनुभूति होने दे ,तथा अपने मन को समर्पित रखे। 
  9. Makarasana Steps करते समय हमें अपना ध्यान अपनी श्वासों पर केंद्रित करना चाहिए।





  • Precautions For Makarasana Yoga - मकरासन में सावधानी 


  1. Makarasana Pose कोई भी व्यक्ति कर सकता है ,लेकिन अगर आप पीठ या गर्दन के चोटों से पीड़ित है तो आपको इस आसन से बचना चाहिए। 
  2. गर्दन पर झटका या पीड़ा महसूस होती हो तो गर्दन को सरलता से उठाये तथा कोई जोर जबरदस्ती ना करे। 
  3. अगर आप किसी मनोवैज्ञानिक मुद्दों या समस्याओं से पीड़ित है तो Makarasana Steps करने से पूर्व अपने चिकित्सक (डॉक्टर) की सलाह अवश्य लेनी चाहिए।
  4.  Makarasana Yoga  किसी योग्य गुरु के निर्देशन में ही करे।





Amazing Health Benefits Of Makarasana In Hindi - मकरासन के लाभ 


  1. Makarasana Steps कंधों एवं मेरुदंड की मांसपेशियों पूर्ण राहत प्रदान करता है। 
  2. यह दमा ,अस्थमा ,पुरानी खांसी जैसे श्वसन विकारों को चिकित्सकीय पद्धतिसे दूर करता है।
  3.  यह आसन स्लिप डिस्क यानि कटिस्नायुशील ,स्पॉडिलिटिस जैसे रोगों में लाभकारी है। 
  4. Makarasana Yoga श्वसनक्रिया को मजबूत बनाता है ,तथा फेफड़ों की कार्यक्षमता को बढ़ाता है। 
  5. यह खून की गति को संतुलित रखता है तथा शरीर में भरपूर  मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचाता है। 
  6. यह शुद्ध प्राणवायु का संचार करता है ,जिससे शरीर तेजस्वी और कांतिवान बना रहता है।
  7.   यह स्मरणशक्ति विकसित करने के लिए उत्तम आसन है ,Makarasana Steps मस्तिक्ष को ठंडा एवं शांत बनाये रखता है ,जिससे व्यक्ति जीवन में उचित निर्णय लेने में सक्षम बनता है। 
  8. यह तनाव ,डिप्रेशन ,अवसाद ,तथा मानसिक समस्याओं के लिए उपयुक्त आसन है। 
  9.  Makarasana Yoga से आप लंबी एवं गहरी श्वास लेते है ,जो आपकी प्राकृतिक श्वास होती है,इससे आप अपने आप को प्रकृति के और समीप पाते है तथा निरोगी जीवन जीते है।
  10.  यह प्राणशक्ति बढ़ाता है जिससे मनुष्य लंबी आयु  प्राप्त करता है। 
  11. Makarasana Yoga  शरीर को प्राकृतिक रूप से सुसज्जित करता है और शांति ,दृढ़ता ,समर्पण जैसी भावनाओं को उजागर करता है।
  12.  ये सभी Benefits Of Makarasana  है।  जिसे आप Makarasana Yoga के नियमित अभ्यास से प्राप्त कर सकते है। 




Things To Know Before You Do Makarasana Pose - ध्यान रखने योग्य बाते




  1. सुबह सूर्योदय के समय खाली पेट और साफ़ आतों के साथ Makarasana Yoga करना सबसे अच्छा है। 
  2. Makarasana Pose शरीर को ठंडा और आराम देने के लिए किया जाता है,इसलिए योगसत्र के अंत में Makarasana Yoga करना एक अच्छा निर्णय होगा।
  3.  अगर आप केवल इसी आसन का अभ्यास करना चाहते है ,तो यह आवश्यक नहीं की आपका पेट खाली हो। परंतु आप अगर इसे नियमित योगसत्र के साथ करते है ,तो भोजन और अभ्यास में आपको ५ से ६ घंटे का अंतर रखना चाहिए।
  4.   सुबह Makarasana Steps करना अगर आपके लिए संभव ना हो ,तो आप इसे शाम को भी कर सकते है।




  • मकरासन का अभ्यास करने से पहले इन आसनों का अभ्यास करे। 


  1. गौमुखासन | Gaumukhasana
  2. भुजंगासन | Bhujangasana
  3. सेतु बंधासन | Setu Bandhasana



  • मकरासन के बाद इन आसनों को करना चाहिए। 


  1. सर्वांगासन | Sarvangasana
  2. उष्ट्रासन | Ustrasana
  3. धनुरासन | Dhanurasana



जब कभी भी आप शरीर में थकावट महसूस करें,उस समय आप मकरासन का अभ्यास कर तनाव को दूर कर सकते है। आशा है की आपको "Makarasana In Hindiके बारे जानकारी मिल चुकी होगी। फिर भी अगर आपके मन में कुछ सवाल हो ,या कुछ पूछना चाहते है ,तो आप कमेंट कर के पूछ सकते है। 
Previous
Next Post »